Tuesday, 8 September 2015

डॉ आर. के. मिश्रा - भारत एवं विश्व के कई हिस्सों में प्लास्टिक व कॉस्मेटिक सर्जरी के क्षेत्र में एक जाना-माना नाम

सन् २००१ से प्लास्टिक व कॉस्मेटिक सर्जरी के क्षेत्र में अपनी कार्य-कुशलता के ज़रिये विशेष पहचान बनाने वाले उत्तर भारत के विख्यात डॉ आर. के. मिश्रा आज पूरे भारत एवं विश्व के कई हिस्सों में एक जाना-माना नाम बन चुके हैं. केजीएमयू (लखनऊ) से प्लास्टिक, कॉस्मेटिक व रिकंस्ट्रक्टिव सर्जरी में स्पेशिलायिजेशन (एमसीएच) करके वहीँ पर चार वर्षों तक सीनियर रिसर्च असोसिएट के पद पर कार्यरत रहने के पश्चात सरकार की रिज़र्वेशन नीतियों से तंग आकर डॉ. मिश्रा ने अपनी सुप्रशिक्षित टीम के साथ सन् २००६ में एक सुपर-स्पेशियेलिटी अस्पताल की स्थापना की, जिसे आज संपूर्ण भारत में विश्व-स्तरीय बर्न व ट्रामा केयर और सभी प्रकार की प्लास्टिक व कॉस्मेटिक सर्जरी सेवाओं के लिए “सिप्स सुपर-स्पेशियेलिटी अस्पताल, बर्न्स व ट्रामा” के नाम से जाना जाता है, जो कि उत्तर भारत का पहला बर्न व ट्रामा सुपर स्पेशियालाईज़ड अस्पताल है. अन्य अस्पतालों के विपरीत डॉ. मिश्रा ने अपनी टीम की सहायता से सिप्स में २४ घंटे ३६५ दिन सुपर स्पेशियलिस्ट डाक्टर्स के उपस्थित रहने की व्यवस्था की है और ये सभी डाक्टर्स व टीम के सभी सदस्य एटीएलएस प्रमाणित व इनमे से कई एटीएलएस फैकल्टी हैं.
डॉ. मिश्रा की सेवाएं सिर्फ भारत तक सीमित नही हैं बल्कि निकटवर्ती व सुदूर देशों जैसे नेपाल, श्री-लंका, दुबई, युएई, यूएसए, न्युजीलैंड, फिजी, अफ्रीका, मंगोलिया एवं ऑस्ट्रेलिया आदि के निवासी भी अपनी प्लास्टिक व कॉस्मेटिक सर्जरी के लिए उनका चयन करते हैं.


नेशनल बोर्ड ऑफ इंडिया से सर्जरी व प्लास्टिक सर्जरी में मान्यता प्राप्त करने के बाद डॉ. मिश्रा ने डल्लास मेडिकल सेंटर (डल्लास, टेक्सास, यूएसए), एनवाईयू मेडिकल सेंटर, न्यूयार्क और चांग गंग मेमोरियल अस्पताल, ताईवान आदि के आलावा अन्य कई सम्मानित अंतर्राष्ट्रीय संस्थानों में कॉस्मेटिक सर्जरी, क्रेनियो-फेशियल सर्जरी, प्लास्टिक सर्जरी और माईक्रो-सर्जरी में प्रशिक्षण व फेलोशिप प्राप्त की | डॉ. मिश्रा ने सर्जरी की कई नवीन एवं प्रमाणित तकनीकों को निर्गमित किया और स्वयं तीन तकनीकों को संशोधित किया जिन्हें अतर्राष्ट्रीय प्रत्रिकाओं में प्रकाशित किया गया और कई डाक्टरों द्वारा सराहा व अपनाया गया है | प्लास्टिक व कॉस्मेटिक सर्जरी, मेडीसीन व हेल्थ के क्षेत्र में डॉ. मिश्रा को उनके योगदान के लिए कई राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय प्रुस्कारों से सम्मानित किया जाता रहा है. ऐसे अनुभवी व प्रशिक्षित शल्य हाथ और युवा कंधे किसी भी देश को प्रगति की ओर ले जाने में सदैव सहायक होते हैं.